स्वयं सहायता समूह की महिलाएं पेपर बैग बनाने का बिजनेस शुरू कर कमाए लाखों रुपए जाने नया तरीका

स्वयं सहायता समूह की महिलाएं पेपर बैग बनाने का बिजनेस शुरू कर कमाए लाखों रुपए जाने नया तरीका

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन लाखों महिलाएं स्वयं सहायता समूह में जुड़कर मैं रोजगार प्राप्त करनेका सपना लेकर जुड़ी की है आप सभी महिलाओं को बता दे कि स्वयं सहायता समूह में आप जुड़कर लोन प्राप्त कर सकते हैं जिसके जरिए आप आसानी से अपना नया बिजनेस शुरुआत कर सकती है आज हम आप लोगों के लिए पेपर बैग बनाने का नया बिजनेस लेकर आए हैं जिसके माध्यम से आप आसानी इस बिजनेस की शुरुआत करके लाखों रुपए महीने कमा सकते हैं आईए जानते हैं विस्तार से इस आर्टिकल के माध्यम से संपूर्ण जानकारी विस्तार से

स्वयं सहायता समूह की महिलाएं पेपर बैग बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें

यदि आप सभी स्वयं सहायता समूह की महिलाएं पेपर बैग बनाने का बिजनेस शुरू करना चाहती है तो यह एक बढ़िया व्यापार है इस बिजनेस में आप अपने पेपर बैग का बिजनेस शुरू कर सकती हैं जैसा कि आप लोगों को पता है कि प्लास्टिक के बैग से प्रदूषण का खतरा अधिक रहता है इसीलिए प्रदूषण को कम करने के लिए आप लोग पेपर बैग का बिजनेस शुरू कर सकते हैं क्योंकि आने वाले समय में पेपर बैग से लोग अधिक सामान लेनापसंद करेंगे इन पेपर बैग को आसानी से लोग शॉपिंग मॉल गिफ्ट स्टोर या कपड़े की दुकान परआसानी से लोग उपयोग करेंगे

स्वयं सहायता समूह की महिलाएं पेपर बैग कैसे बनाएं

यदि आप सभी स्वयं सहायता समूह की महिलाएं पेपर बैग बनाना चाहती है तो आपको नीचे दी गई प्रक्रिया को फॉलो करें

  • सबसे पहले आपके पास कैंची पंचिंग मशीन गेट और चिपकाने के लिए ग्लू होना चाहिए
  • तभी आप आसानी से पेपर बैग तैयार कर सकती हैं
  • सबसे पहले आपको पेपर रोल कोआकार में काट लेना है
  • फिर उसे बीच में मोड़करफिर उसे दोनों हिस्सों में मोड़कर चिपक कर उसे सूखने के लिए छोड़ देना है
  • फिर जब पेपर सुख जाए तब दूसरे कागज के टुकड़े को मोड़कर पेपर के दोनों सर पर जोड़ दे
  • इसे आप आसानी से पेपर के बैग से ग्लू की सहायता से पेपर बैग तैयार कर सकती है अब आपका हाथों से बना पेपर बैग तैयार है
  • इससे आप आसानी से मार्केट में बेचकर मुनाफा कमा सकते हैं
  • इसे अच्छा और बेहतर बनाने के लिए फ्लेक्सों कलर की सहायता से डिजाइन भी कर सकती है

समूह की महिलाओं को पेपर बैग बनाने से क्या होगा फायदा

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन में जुड़ी सभी स्वयं सहायता समूह की महिलाएं अगर पेपर बैग का व्यापार शुरू करते हैं तो उन्हें कई तरह के लाभ मिल सकते हैं पहले तो उन्हें रोजगार मिलेगा और उन्हें इस व्यापार से आमदनी होगी और पेपर बैग बनानेसे उन सभी महिलाओं को सबसे बढ़िया फायदा होगा पर्यावरण साफ रहेगा जैसे कि समाज में अगर गंदगी अधिकतर पॉलिथीन के प्लास्टिक के वजह से होती है जब प्लास्टिक उड़कर नालियों और शहर के रोड पर इधर-उधर उड़ता है जिससे नगर निगम के जरिएसाफ सफाई की जाती है और साथ ही 60 किलो पॉलिथीन रोजाना प्रत्येक शहर से कचरा निकलता है केवल पॉलिथीन का इससे पॉलिथीन की उपयोग नहीं होगा लोग पेपर बैग को ज्यादा उपयोग करेंगेजिससे समूह की महिलाओं को फायदा होगा उनका व्यापार भी बढ़ेगा

अगर आप लोगों को यह व्यापार शुरू करना है तो आसानी से आप सभी महिलाएं घर बैठे इस व्यापार को शुरू कर सकती हैं और मुनाफा कमा सकते हैं साथ ही आप पेपर बैग के इस व्यापार से पॉलिथीन का उपयोग भी काम हो सकता है जिससे लोगपेपर बाग का ज्यादा उपयोग करेंगे और पर्यावरण में वातावरण में प्रदूषण कम होगा आर्टिकल पसंद आए तो वेबसाइट को फॉलो करें और दोस्तों के साथ शेयर करें आर्टिकल पढ़ने के लिए धन्यवाद